Translate

Monday, 20 March 2017

Navratri special Ma Bagulamukhi prayog नवरात्रि विशेष माँ बगुलामुखी प्रयोग

नवरात्र हेतु माँ पीताम्बरी साधना प्रयोग 

जिन मित्रों की गुरु दीक्षा नहीं हुई किंतु फिर भी वे यदि माँ पीताम्बरा के प्रति श्रद्धा भाव रखते हैं और उनके निमित्त कोई अनुष्ठान या साधना करने के इछुक हैं तो उनके लिए आज आपको एक सरल प्रयोग बता रहे हैं।
(ध्यान रखें कि किसी भी महाविद्या या उग्र विद्या के मन्त्र जप बिना। गुरु दीक्षा, गुरु निर्देश और गुरु सानिध्य के नहीं करने चाहिए)

नवरात्र में माँ पीताम्बरा जी के कवच और 108 नाम का पाठ करें ।नियमित और एक ही समय पर रोज ।

पिला वस्त्र पिला आसन उत्तर या पूर्व दिशा में मुकेह रख के करे ।पिला प्रसाद भोग लगाएं पके केले आदि ।और हल्दी और केसर चन्दन और पीले अक्षत से मैं की पंचोपचार पूजन करे ।गाय के शुद्ध घी का दीपक प्रज्वल्लित करे ।दिए की बाती को हल्दी से पिला करे और दीपक के घी में भी हल्दी डाले चुटकी भर ।

पाठ समाप्ति के बाद माई को पाठ एवम पूजन समर्पित कर देवे ।
और आसान के नीचे जल न छोड़े प्रति दिन ।जिस दिन पूरा हो (नौ दिन ) उसदिन 108 नाम का हवन करे पीली सरसों और साबुत हल्दी से और पीले कनेर को शुद्ध घी में मिला कर खैर की लकड़ी में ।

उस दिन पूजन समाप्ति के बाद आसान के नीचे जल छोड़े और उसे आँखों और माथे पर लगाये ।

।।जय माँ पीताम्बरी।।

अभिषेक बी पाण्डेय
7579400465
7579400465

http://jyotish-tantra.blogspot.com

No comments:

Post a comment