Translate

Monday, 9 November 2015

Saubhagya Lakshmi yantra सौभाग्य लक्ष्मी यंत्र

मित्रों

आज आपको एक बहुत सरल प्रयोग देने जा रहा हूं जिसे करके आप वर्ष भर आर्थिक दिक्कत में नहीं पड़ेंगे यदि आप कर्ज में फंसे हूं या धन संचय नहीं होता आपके खर्च कमाई से अधिक है तो यह एक बहुत सरल प्रयोग है जिसे दीवाली की रात करके आप वर्ष पर्यंत लाभ उठा सकते है और अपनी इन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं ।

 यह प्रयोग आप दीपावली की रात्रि में रात लगभग साढ़े 12 बजे शुरू करें इसके लिए एक बड़े साइज का भोजपत्र ले जो करीब 10 इंच लंबा और 4 से 5 इंच चौड़ा हो।

एक लकड़ी की चौकी पर लाल वस्त्र बिछा कर उसपर एक चावल की ढेरी बनाएं और ढेरी पर एक ताम्बे की प्लेट स्थापित करें। प्लेट पर सिंदूर से स्वस्तिक चिन्ह बनाकर उस पर भोजपत्र रखें।
भोजपत्र पर गंगाजल के छींटे दें फिर अनार की कलम से नीचे दिए गए चित्र के अनुसार ही

श्रीं स्वास्तिक चिन्ह ह्रीं

अंकित करें। ये अक्षर थोड़े मोटे ही बनाएं बारीक़ और पतले नहीं।
फिर किसी चाँदी के पात्र में नागकेसर लें उसमें शहद, गोरोचन , केसर मिला लें।

अब इस नागकेसर मिश्रण को भोजपत्र पर लिखे हुए अक्षरों पर इस प्रकार चिपका दें जिससे सिंदूर से लिखे अक्षर न दिखें और रँगे
हुए नागकेसर से ही लिखा हुआ प्रतीत हो।
इस यंत्र को गंगाजल व् पंचामृत के छींटे दें और धूप दीप रक्त पुष्प से पूजन करें और निम्न मन्त्र की
कम से कम 5 माला जप करें , सम्भव हो तो 11 या 21 माला करें तो अति उत्तम।

मन्त्र:-
      ॐ महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णुपत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्।

माँ को खीर अथवा सफेद बर्फी का भोग लगायें।

अगले दिन प्रातः इस यंत्र को चाहे तो अपनी तिजोरी/ अलमारी में रख लें अथवा मन्दिर में स्थापित करें।
नित्यप्रति एक माला मन्त्र जप करते रहें और माँ लक्ष्मी की कृपा का लाभ उठायें।

अच्छा हो यदि आप इसे फ्रेम करवा लें ताकि नागकेसर बिखरें नहीं।

अन्य किसी जानकारी, समस्या समाधान और कुंडली विश्लेषण हेतु सम्पर्क कर सकते है।

।।जय श्री राम।।
7579400465
8909521616(whatsapp/ hike)

for more useful remedies please visit:
jyotish-tantra.blogspot.in

1 comment: