Translate

Sunday, 27 July 2014

प्राण प्रतिष्ठित हरिद्रा माला

तंत्र में अतिप्रचलित कुछ वस्तुएं

हरिद्रा माला

मित्रों आज के सुचना युग में वैसे तो लोग काफी जानकारी रखते हैं पर हरिद्रा यानि हल्दी का सर्वाधिक उपयोग खाने में ही करते हैं। इसी हल्दी के कुछ अन्य उपयोग आज आपको बता रहा हूँ

1. माँ पीताम्बरा यानि माँ बगुलामुखी की  साधना में जप हेतु हल्दी माला का प्रयोग होता है। इसके साथ ही माँ के शत्रुनाश या बाधानाश और कामनापूर्ति अनुष्ठान में भी इसका प्रयोग होता है।

2. जिन लोगों की कुंडली में बृहस्पति कमजोर हो या शुभफल न दे रहा हो उन्हें हल्दी माला धारण करनी चाहिए।
बृहस्पति देव गुरु हैं बुद्धि शिक्षा पुत्र और धन के दाता हैं।

3. धनु और मीन लग्न एवं राशी वालों को ये माला धारण करनी चाहिए।

4. जो बच्चे बेहद चंचल या गुस्सैल हों और पढाई में बिलकुल मन न लगाते हों उन्हें ये माला पहनानी चाहिए।

5. भगवान श्री गणेश जी की साधना में भी हरिद्रा माला अतिफल्दायी है।

6. क़र्ज़ नाश हेतु हरिद्रा गणपति साधना में ये माला सर्वोपयुक्त है। जो ये साधना करने में सक्षम न हो उन्हें भगवन गणेश को ये माला पहना कर कर्जमुक्ति हेतु ऋण नाशन गणपति स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

7. जिन लोगों का लीवर कमजोर हो या बार बार पीलिया हो जाता हो अथवा पीलिया लगातार रिपोर्ट में आता हो उन्हें पुनर्नवा की माला के साथ हरिद्रा की माला पहननी चाहिए।

8. धन सम्बन्धी समस्याओं के लिए हरिद्रा माला पर ताम्बे का श्रीयंत्र स्थापित कर पूजन करें।

9. त्वचा रोगों से ग्रसित व्यक्ति नहाने से आधा घंटा पूर्व ये माला पानी की बाल्टी में डाल दें फिर उस पानी से नहा लें और माला धारण कर लें।

10. ऊपरी बाधा से ग्रसित या बार बार पीड़ित होने वाले व्यक्ति को माँ बगुलामुखी के मन्त्र से अभिमंत्रित माला धारण करनी चाहिए।

11. घर में सुख शांति व् धार्मिक वातावरण बनाने के लिए ईशान यानि उत्तर पूर्व कोण पर श्रीकृष्ण की प्रतिमा या फोटो स्थापित कर पर हरिद्रा माला पहनानी चाहिए।

अन्य किसी जानकारी कुंडली विश्लेषण या समस्या समाधान हेतु संपर्क कर सकते हैं

।।जय श्री राम।।
8909521616
7579400465

No comments:

Post a comment